निर्देशक का बेहूदा बयान, ‘कंडोम रखकर रेपिस्ट्स का सहयोग करना चाहिए,ताकि वो महिलाओं की हत्या न करें’

 

 

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

मुंबई 4 दिसंबर 2019  हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप के बाद जिंदा जला देने की सिहरन भरी खबर ने पूरे देश को हिला दिया था और ये मामला सड़क से लेकर संसद तक में गूंजा. जहां देश भर में लोग रेपिस्ट्स के खिलाफ सख्त से सख्त कानून की मांग कर रहे हैं वही साउथ के फिल्ममेकर डेनियल श्रवण ने आपत्त‍िजनक पोस्ट लिखकर सोशल मीड‍िया पर खलबली मचा दी है.
उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि सरकार को रेप को लीगल करने पर ध्यान देना चाहिए. बलात्कार के बाद महिलाओं की हत्या कर दी जाती है और सरकार को कुछ ऐसा प्रावधान लाना चाहिए जिससे बिना हिंसा के रेपिस्ट रेप को अंजाम दें.
उन्होंने लिखा मर्डर एक क्राइम है और रेप करेक्टिव सजा है. दिशा एक्ट या निर्भया एक्ट से कोई न्याय होने वाला नहीं है. रेप का एजेंडा अपनी सेक्शुएल जरुरतों को पूरा करना है जो समय और मूड के हिसाब से है और अगर समाज, कोर्ट और महिला संस्थाएं इस क्राइम को इग्नोर करती हैं तो वे रेप के साथ ही साथ एक कदम आगे बढ़कर महिलाओं का मर्डर कर देते हैं.

उन्होंने इस पोस्ट में आगे कहा था कि 18 साल से अधिक उम्र की लड़कियों को रेप को लेकर अवगत कराना चाहिए. मतलब उन्हें मर्दों की सेक्शुएल जरुरतों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. तभी ऐसी चीजें होना बंद होंगी. ये बेवकूफी है कि वीरप्पन को मार दिया तो तस्करी बंद हो जाएगी या लादेन को मार दिया तो आतंकवाद खत्म हो जाएगा. उसी तरह निर्भया एक्ट के सहारे बलात्कार को नहीं रोका जा सकता है.

डायरेक्टर ने आगे लिखा, खासकर भारतीय महिलाओं को सेक्स एजुकेशन के बारे में पता होना चाहिए और 18 साल से अधिक उम्र होने के बाद उन्हें अपने साथ कॉनडोम रखने चाहिए. महिलाओं को 100 नंबर मिलाकर पुलिस को मदद के लिए बुलाने की बजाए अपने पास कॉनडोम रखने चाहिए और रेपिस्ट्स के साथ सहयोग करना चाहिए ताकि वे उनकी हत्या ना करें.
उसने आगे लिखा सिंपल सा लॉजिक है. अगर सेक्शुएल इच्छाएं पूरी होंगी तो मर्द औरतों का रेप नहीं करेंगे. सरकार को ऐसी ही कोई स्कीम पास करनी चाहिए ताकि रेप के बाद रेपिस्ट महिलाओं की हत्या ना करें.

यही नहीं जब श्रवण के पोस्ट पर एक यूजर ने कमेंट करते हुए बताया कि आपकी मानसिक हालत ठीक नहीं है और आपको एक साइकेट्रिस्ट को दिखाना चाहिए तो श्रवण ने कहा कि अगर ये लड़कियां बलात्कारियों के प्रपोजल को नहीं मानेंगी तो रेपिस्ट्स के पास सिवाए रेप के और क्या चारा बचेगा

हालांकि बाद में इस डायरेक्टर श्रवण ने विवाद होने के बाद अपनी पोस्ट को ड‍िलीट कर द‍िया और एक नए मैसेज को पोस्ट किया जिसमें उन्होंने अपने कमेंट्स के लिए माफी मांगी.
उन्होंने ये भी कहा कि वो अपनी फिल्म में एक विलेन के लिए डायलॉग्स लिख रहा था और इन्हीं डायलॉग्स को उसने कमेंट्स में लिखा था और लोगों ने उसकी बात को गलत तरीके से समझा है.

 

 

View image on Twitter

 

Related image